गुरुवार, अक्तूबर 20, 2011

फूल

फ्लार बुके, मार्क शगाल
Flower Bouquet, Marc Chagall

पत्थर.
हवा में वह पत्थर, जिसका मैंने पीछा किया था.
तुम्हारी आँख, पत्थर की तरह नेत्रहीन.

हम
हाथ थे.
हमने अँधेरे को उलीच कर खाली कर दिया था,
हमें मिला था वह शब्द 
जो गर्मियों से ऊपर कहीं आरोहित होता था:
फूल.

फूल -- एक नेत्रहीन व्यक्ति का शब्द 
तुम्हारी आँख और मेरी:
देती हैं पानी.

वृद्धि.
दिल की दीवारों पर दीवारें 
जोडती जाती हैं अपनी पंखुडियां.

इस शब्द जैसा एक शब्द और, 
और हथौड़े 
पड़ने लगेंगे खुली धरती पर.


-- पाउल चेलान












पाउल चेलान ( Paul Celan) कवि व अनुवादक थे. हालाँकि वे रोमानिया के एक यहूदी परिवार से थे, जर्मन उन्होंने बचपन से ही पढ़ी थी और द्वितीय विश्व युद्ध के बाद वे जर्मन भाषा के प्रमुख कवियों में गिने जाने लगे. नाजियों के हाथों उन्होंने, उनके परिवार ने व देशवासियों ने बहुत अत्याचार सहे, मगर विडंबना थी कि उनके पास अपने आततायियों की जर्मन भाषा ही थी जिस में वे खुद को व्यक्त कर सकते थे. यहूदियों के विध्वंस का उन पर बहुत गहरा असर पड़ा और उनकी कविताओं की भाषा मैं ही बदलाव आ गया.उनकी कविताओं का अंग्रेजी में बहुत बार अनुवाद हुआ है.
ये कविता उनके संकलन 'ग्लोट्टल स्टॉप' से है जिसका जर्मन से अंग्रेजी में अनुवाद निकोलई पोपोव व हेदर मकह्युग्ज़ ने किया है.
इस कविता का हिन्दी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़


2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया कविता, अच्छा अनुवाद। मुझसे यह ब्लॉग छूटा क्यों रहा इतने दिन तक?

    उत्तर देंहटाएं