शनिवार, दिसंबर 22, 2012

उनींदेपन का उपचार

पोर्ट्रेट ऑफ़ अ वुमन, अमेदेओ मोदिग्लियानी
Portrait of a Woman, Amedeo Modigliani
पहाड़ से उतरती भेड़ें नहीं
न ही छत में पड़ी दरारें --
गिनों उन्हें जिनसे प्रेम किया है तुमने,
तुम्हारे सपनों के भूतपूर्व किरायेदार
जो तुम्हें सोने नहीं देते थे,
जो कभी तुम्हारी पूरी दुनिया थे,
झुलाया था जिन्होनें तुम्हें अपनी बाहों में,
जिन्होनें तुमसे प्रेम किया था...
सो जाओगी तुम, भोर होने तक,
नयनों में अश्रु लिए.



-- वेरा पाव्लोवा 




 वेरा पाव्लोवा ( Vera Pavlova) रूस की सबसे प्रसिद्द समकालीन कवयित्री हैं. उनका जन्म मॉस्कोमें हुआ था. उन्होंने संगीत की शिक्षा ग्रहण की व संगीत के इतिहास विषय में विशेषज्ञता प्राप्त की. कुछ समय बाद ही उनकी कविताएँ प्रकाशित हुई और उन्होंने अपने साहित्यिक जीवन का आरम्भ किया. उनके 14 कविता-संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं व रूस में उनकी किताबें खूब बिकती हैं. उन्होंने चार ओपेरा लिबेरेतोज़ के लिए संगीत लिखा है व कुछ बोल भी. उनकी कविताएँ 18भाषाओँ में अनूदित की गयी हैं. यह कविता उनके अंग्रेजी में अनूदित संकलन 'लेटर्ज़ टू अ रूम नेक्स्ट डोर : 1001 कन्फेशंज़ ऑफ़ लव ' से है.

इस कविता का मूल रशियन से अंग्रेजी में अनुवाद स्टीवन सेमूर ने किया है.
इस कविता का हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़

2 टिप्‍पणियां:

  1. तुम गिनो उन्हें जिन्होंने तुम्हें प्यार किया था और
    सो जाओगी तुम, भोर होने तक,
    नयनों में अश्रु लिए.

    सुन्दर कविता और अनुवाद !बधाई रेनू जी !

    उत्तर देंहटाएं