गुरुवार, जून 09, 2011

दे प्रोफुन्दिस अमैमस ( प्यार गहराई से करते हैं हम)

स्पेनिश कपल इन फ्रंट ऑफ़ एन इन्न, पाब्लो पिकस्सो 
कल रात
ग्यारह बजे 
तुमने सिगरेट पी थी 
और मैंने
तुम्हें वहां बैठा पाया था 
हम बैठे रहे थे 
और तुम्हारी सब ट्रामें 
छूट गयी थी 
मेरी तो थी ही ऐसी 
जो छूट जाती हैं 

पांच मील 
तक चलते रहे थे हम 
दरबानों को छोड़  
किसी ने हमें 
पास से गुज़रते 
नहीं देखा 
निस्संदेह 
दरबानों द्वारा देखा जाना
सहज ही है 

सड़क को देखो 
वैसे जैसे 
सिर्फ तुम ही देख सकते हो 
लोग 
उनका आचरण 
चार हज़ार लोगों की रूचि
यह देखने में है 
कि तुम्हारी पैंट की सिलवटें 
 कैसी हैं  

कोई बात नहीं
भींच लो मुझे
अपनी पूर्णत: नीली आँखों के
गोल घेरों में 
ऐसा काफी समय तक चलेगा 
हम से पहले तो 
कई सदियाँ पहुँच जायेंगी 
मगर चिंता मत करो 
मत करो 
अधिक चिंता 
हमारा वास्ता 
तो बस इस पल से है 
हम समुद्री-डाकू हैं 
एक भावशून्य बिल्ली की 
अनूठी आश्चर्यचकित  
आश्चर्यजनक आँखें लिए 
हमारी इस अनोखी क्रिया का 
कोई भूत या भविष्य नहीं होता 


-- मारियो सेज़ारीनी द वेसकौनसियलोज़

Mario Cesariny मारियो सेज़ारीनी द वेसकौनसियलोज़ जो मारियो सेज़ारीनी के नाम से जाने जाते हैं, पुर्तगाल के प्रमुख स्यूरेअलीस्त कवि थे. वे चित्रकार भी थे, मगर एक समय के बाद, कविता पर उनका पूरा ध्यान केन्द्रित हो गया. फ्रांस में पढने के दौरान, वे आंद्रे ब्रेतों से मिले और स्यूरेअलीज्म से बहुत प्रभावित हुए. मगर समय के साथ-साथ उनकी लेखन शैली बदलती रही, वे कभी किसी एक विचारधारा पर नहीं टिके रहे, और शायद यह उनके लेखन की विशेषता थी. अपने पचास वर्षों के लेखन काल में उनके कई कविता संकलन छपे हैं. उनकी कविताओं का अब तक अधिक अनुवाद नहीं हुआ है.
इस कविता का मूल पोर्त्युगीज़ से अंग्रेजी में अनुवाद रिचर्ड ज़ेनिथ ने किया है.
इस कविता का हिंदी में अनुवाद रीनू तलवाड़.

3 टिप्‍पणियां:

  1. प्यार उस पल में सम्पूर्ण है

    इस अनोखी क्रिया का

    कोई भूत या भविष्य नहीं होता ... सच!!!

    उत्तर देंहटाएं