सोमवार, नवंबर 12, 2012

रोशनी

कोर्फू: लाइट्स एंड शैडोज़, जॉन सिंगर सार्जेंट
Corfu: Lights and Shadows, John Singer Sargent

रोशनी, जो आगे-आगे चलती
हो हमेशा, तुम्हारा हाथ थामूंगा मैं
एक दिन, अचानक कितना सहज
हो जाएगा सब, चीज़ें और लोग,
शब्द जो कठोर हो जाते थे जिह्वा पर,
सब पारदर्शी हो जाएगा हमारे लिए,
रोशनी जो रूकती नहीं किसी जगह,
देखो रुक रही हो तुम,
और रुक रही है मेरी पीड़ा भी
और प्रतीक्षा कर रही हो तुम मेरी.



-- क्लौद एस्तेबान



 क्लौद एस्तेबान (Claude Esteban) एक फ्रेंच कवि , निबंधकार व अनुवादक थे। वे फ्रेंच व स्पेनिश दोनों भाषाओं में सिद्धहस्त थे। पिछली सदी के दूसरे हिस्से के प्रमुख कवियों में से एक, वे अपने पीछे महत्वपूर्ण कृति छोड़ गए हैं। उन्होंने कला व कविता पर असंख्य निबंध लिखे व स्पैनिश भाषा के प्रमुख कवियों ओक्टावियो पास, बोर्खेस, लोर्का इत्यादि की कविताओं व लेखन का अनुवाद किया। आरम्भ में वे फ्रेंच कला व साहित्य की पत्रिकाओं में लेख लिखते रहे। 1968 में उनका पहला कविता संकलन प्रकाशित हुआ --'ला सेजों देवास्ते '.इसके बाद उनके कई संकलन प्रकशित हुए, वे प्रसिद्द कलाकारों के लिए उनकी प्रदर्शनियों के कैटालोग के लिए प्रस्तावनाएँ लिखते रहे। स्पेनी कवि होर्खे गुइयें से उनकी अच्छी दोस्ती हो गई व उन्होंने उनके कृत्य का  फ्रेंच में खूब अनुवाद किया। 1984 में उन्हें अपनी गद्य कविताओं के लिए मालार्मे पुरूस्कार प्राप्त हुआ। कला में उन्हें गहरी रूचि रही और 1991 में उन्हें एडवर्ड हापपर के चित्रों से प्रेरित कविता संकलन 'सोलई दौन्ज़ युन पीएस वीद ' के लिए फ्रांस कल्चर प्राइज़ प्राप्त हुआ। उनके 13 कविता संकलन, कई निबंध व अनेक अनुवाद प्रकाशित हुए,. यह कविता उनके संकलन 'ल यूर आ पेन एकरी'' से है।
इस कविता का मूल फ्रेंच से हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़

1 टिप्पणी:

  1. यह जीवन के पार प्रतीक्षा की बात लगती है. रोशनी के साथ उजाले के सफर की कल्पना अमर प्रेम को दर्शाती है.

    उत्तर देंहटाएं