मंगलवार, नवंबर 06, 2012

लम्बी व्यस्तता के बाद

हॉर्स ऑन द शोर ऑफ़ अ लेक,
जोर्जियो द किरीको
Horse on the Shore of a Lake,
Giorgio de Chirico
डेस्क पर हफ़्तों बिताने के बाद
आखिर निकलता हूँ मैं सैर के लिए
चाँद पैरों तले कहीं हल चलाने गया है
तारे नहीं हैं, रोशनी का सुराग तक नहीं !
अगर इस खुले खेत में
कोई घोड़ा सरपट दौड़ता मेरी ओर आ रहा हो तो?
जो नहीं बिताया मैंने एकांत में

हर वो दिन निरर्थक था.


--  रोबर्ट ब्लाए



 रोबर्ट ब्लाए ( Robert Bly ) अमरीकी कवि,लेखक व अनुवादक हैं. 36 वर्ष की आयु में उनका पहला कविता संकलन प्रकाशित हुआ, मगर उस से पहले साहित्य पढ़ते समय उन्हें फुलब्राईट स्कॉलरशिप मिला और वे नोर्वे जाकर वहां के कवियों की कविताओं का अनुवाद अंग्रेजी में करने लगे. वहीं पर वे दूसरी भाषाओँ के अच्छे कवियों से दो-चार हुए - नेरुदा, अंतोनियो मचादो, रूमी, हाफिज़, कबीर, मीराबाई इत्यादि. अमरीका में लोग इन कवियों को नहीं जानते थे. उनके अनेक कविता संग्रह प्रकाशित हुए और उन्होंने खूब अनुवाद भी किया है. अमरीका के वे लोकप्रिय कवि हैं और यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिनेसोटा में उनके लिखे 80,000 पन्नों की आर्काइव है, जो उनका लगभग पचास वर्षों का काम है.


इस कविता का मूल अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़

2 टिप्‍पणियां:

  1. एकांतमें बिताये दिन का ही कुछ अर्थ होता है ...अच्छी कविता !सुन्दर अनुवाद के लिए बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  2. अँधेरे और अकेलेपन के मनोभाव की अलग मिजाज़ की कविता.

    उत्तर देंहटाएं