सोमवार, जनवरी 07, 2013

देर रात पत्र डाक में डालने शहर जाना

स्नो ऑन द रोड लूवसियें, अल्फ्रेड सिसले
Snow on the Road, Louveciennes,
Alfred Sisley
ठंडी और बर्फानी रात है. मुख्य सड़क वीरान है.
केवल बर्फ के कण चक्कर खाते उड़ रहे हैं.
मैं डाक बक्से में हाथ डालता हूँ
और महसूस करता हूँ उसका ठंडा लोहा.
इस बर्फानी रात में एक एकान्त है जो मुझे प्रिय है.
इधर-उधर घूम कर मैं और समय ख़राब करूँगा.



-- रोबर्ट ब्लाए



 रोबर्ट ब्लाए ( Robert Bly ) अमरीकी कवि,लेखक व अनुवादक हैं. 36 वर्ष की आयु में उनका पहला कविता संकलन प्रकाशित हुआ, मगर उस से पहले साहित्य पढ़ते समय उन्हें फुलब्राईट स्कॉलरशिप मिला और वे नोर्वे जाकर वहां के कवियों की कविताओं का अनुवाद अंग्रेजी में करने लगे. वहीं पर वे दूसरी भाषाओँ के अच्छे कवियों से दो-चार हुए - नेरुदा, अंतोनियो मचादो, रूमी, हाफिज़, कबीर, मीराबाई इत्यादि. अमरीका में लोग इन कवियों को नहीं जानते थे. उनके अनेक कविता संग्रह प्रकाशित हुए और उन्होंने खूब अनुवाद भी किया है. अमरीका के वे लोकप्रिय कवि हैं और यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिनेसोटा में उनके लिखे 80,000 पन्नों की आर्काइव है, जो उनका लगभग पचास वर्षों का काम है. यह कविता उनके संकलन 'ईटिंग द हनी ऑफ़ वर्डज़ ' से है.


इस कविता का मूल अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़

2 टिप्‍पणियां:

  1. एकांत के ये क्षण कितने जीवंत होते हैं और यही इनकी सार्थकता है जबकि दुनियां इसे समय खराब करना कहती है !
    अच्छी कविता ,सुन्दर अनुवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ठंडी रात और अकेलेपन का प्रभावी चित्रण.

    उत्तर देंहटाएं