शनिवार, मई 11, 2013

पत्थर

वैरी फर्स्ट स्टोन, सैम फ्रांसिस
Very First Stone, Sam Francis

शीशे-से पारदर्शी,
जो पत्थर हमनें फेंके हैं
उन्हें गिरते हुए 
सुनता हूँ
वर्षों के आर-पार.
घाटी में 
उड़ते हैं
इस पल के अव्यवस्थित 
कृत्य
कर्कशनाद करते हुए
एक पेड़ की 
फुनगी से दूसरी तक.
वर्तमान से 
कम घनी हवा में
ये मूक हो जाते हैं, 

अबाबीलों की तरह उड़ते हैं
पहाड़ों पहाड़ों पर
जब तक न पहुँच जाएँ
जीवन के छोर पर पसरे सुदूर मैदानों में.
वहाँ गिरते हैं हमारे सभी कृत्य,
शीशे-से पारदर्शी,
और किसी तल तक नहीं,
हमारे ही भीतर.


-- तोमास त्रांसत्रोमर 



 तोमास त्रांसत्रोमर ( Tomas Tranströmer )स्वीडन के लेखक, कवि व अनुवादक हैं जिनकी कविताएँ न केवल स्वीडन में, बल्कि दुनिया भर में सराही गयीं हैं. उन्हें 2011 का नोबेल पुरुस्कार प्राप्त हुआ है. उन्होंने 13 वर्ष की आयु से ही लिखना शुरू कर दिया था. उनके 12 से अधिक  कविता संकलन प्रकाशित हो चुके हैं व उनकी कविताएँ लगभग 50 भाषाओँ में अनूदित की गईं हैं. उन्हें अपने लेखन के लिए अनेक सम्मान प्राप्त हुए है जिनमे इंटरनैशनल पोएट्री फोरम का स्वीडिश अवार्ड भी शामिल है. वे नोबेल प्राइज़ के लिए कई वर्षों से नामित किये जा रहे थे. लेखन के इलावा वे जाने-माने मनोवैज्ञानिक भी थे, जो कार्य उन्हें स्ट्रोक होने के बाद छोड़ना पड़ा. उनका एक हाथ अभी भी नहीं चलता है, मगर दूसरे हाथ से वे अब भी लिखते हैं. यह कविता  उनके संकलन 'सिलेक्टेड पोएम्ज़'से है.


इस कविता का मूल स्वीडिश से अंग्रेजी में अनुवाद मे स्वेनसन ने किया है.
इस कविता का हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़ 

4 टिप्‍पणियां:

  1. पत्थर हमारी औरों के लिए नकारात्मक भावनाएं हैं जो अंततः हमरे पास लौटती हैं या साथ रहती हैं और हमें ही आहत करती हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. अद्भुत लक्षणा।
    जहां तक मैं समझ पाया सोच को पत्थर और यादों को आवाज़ के मेटाफर में यूज़ किया गया है।

    उत्तर देंहटाएं