सोमवार, अक्तूबर 07, 2013

पतझड़

              लेक जिनीवा एट शेब्र, फेरडिनांड हूलडर  
        Lake Geneva at Chexbres, Ferdinand Holder





दूर कहीं नग्न ताल के मध्य से 
आती है जल-पाखी की पुकार --
किसी ऐसे की पुकार जिसका बहुत कम पर हो स्वामित्व.




-- रोबर्ट ब्लाए



 रोबर्ट ब्लाए ( Robert Bly ) अमरीकी कवि,लेखक व अनुवादक हैं. 36 वर्ष की आयु में उनका पहला कविता संकलन प्रकाशित हुआ, मगर उस से पहले साहित्य पढ़ते समय उन्हें फुलब्राईट स्कॉलरशिप मिला और वे नोर्वे जाकर वहां के कवियों की कविताओं का अनुवाद अंग्रेजी में करने लगे. वहीं पर वे दूसरी भाषाओँ के अच्छे कवियों से दो-चार हुए - नेरुदा, अंतोनियो मचादो, रूमी, हाफिज़, कबीर, मीराबाई इत्यादि. अमरीका में लोग इन कवियों को नहीं जानते थे. उनके अनेक कविता संग्रह प्रकाशित हुए और उन्होंने खूब अनुवाद भी किया है. अमरीका के वे लोकप्रिय कवि हैं और यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिनेसोटा में उनके लिखे 80,000 पन्नों की आर्काइव है, जो उनका लगभग पचास वर्षों का काम है. 



इस कविता का मूल अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़

2 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर प्रस्तुति-
    मंगल-कामनाएं आदरणीया-

    उत्तर देंहटाएं
  2. Pahli baar aapke blog par aai hoon. anuvad bahut sundar karti hain aap. saath hi kavi ke baare me aur us kavita se sambandhit jankari dena sachmuch aakarshit karta hai. is tarah jankari badhane ke liye tahe dil se shukriya aapka.

    उत्तर देंहटाएं