मंगलवार, अक्तूबर 23, 2012

सोचना तुम्हारे बारे में

द सोंग ऑफ़ लव, जोर्जिओ द किरीको
The Song of Love, Giorgio de Chirico



तुम्हारे बारे में सोचना सुखद है, 
आशा से पूर्ण,
जैसे धरती के सब से सुन्दर स्वर में
सुनना सबसे सुन्दर गीत...
मगर आशा अब काफी नहीं मेरे लिए,
अब और नहीं सुनना चाहता गीत,
मैं गाना चाहता हूँ. 



-- नाज़िम हिकमत



 नाज़िम हिकमत ( Nazim Hikmat) तुर्की के कवि , उपन्यासकार व नाटककार थे. उन्हें 28  वर्ष की क़ैद हो गयी थी , इस जुर्म पर कि उनकी कविताएँ पढ़ कर तुर्की सेना विद्रोह करने को प्रेरित होती है. अपना अधिकाँश जीवन उन्होंने जेल में या तुर्की से निर्वासित हो, दूसरे देशों में बिताया. चाहे तुर्की सरकार ने उन्हें खूब तंग किया, तुर्की के लोगों के मन में उनके लिए हमेशा बहुत इज्ज़त रही क्योंकि उनका लिखा लोगों के मन की बात कहता था. उनका देहांत मास्को में हुआ और वे वहीँ दफनाये गए. 1950 में उन्हें नोबेल पीस प्राइज़ प्राप्त हुआ. उनका एक उपन्यास, 4  नाटक व कई कविता संकलन प्रकाशित हुए. उनकी कविताओं का 50 से भी अधिक भाषाओँ में अनुवाद हुआ है. 
इस कविता का मूल तुर्की से अंग्रेजी में अनुवाद फ़तेह अक्गुल ने कियहै.
इस कविता का हिंदी में अनुवाद -- रीनू तलवाड़

1 टिप्पणी:

  1. किसी के बारे में सोचते रहना ही काफी नहीं है.कवि प्रेमिका के साथ मिलकर जीवन बिताना चाहता है.

    उत्तर देंहटाएं